Uncategorized

Creativity wins Contest-By Anushka

Hey all!! I got some exciting news for you all and I can’t wait to share it with you guys. So I decided to host a 1 month competition with you all. Well this is going to be really fun!! And I know you would love doing it. Now let’s come to the rules of […]

Creativity wins Contest-By Anushka
Uncategorized

अब नारी की बारी

At a request of an online friend, reviving this 2 years old Post.

R K Karnani blog

अपनी पहचान खोजती आज की नारी तरह तरह के प्रश्न उठा रही है जिनका जवाब पुरुष वर्ग के पास नहीं है !  ऐसा प्रतीत होता है मानों सृष्टि  के प्रारम्भ से ही पुरुष ने स्त्री को दबा रखा है |  हज़ारों हज़ारों साल के इस दमन से लगता है की नारी जाति  की जीन्स (genes) में, उसके डी  एन ए  (DNA) में ही ये दबा रहना आ गया है !  इस दमन चक्र खिलाफ आवाज़  बहुत तेज हो गयी है !  ऐसी ही कुछ आवाजें जो अच्छी लगीं वो साझा कर रहा हूँ !

Wednesday, October 28, 2009

सीता से भी ज्यादा अग्नि परीक्षाएँ देती है आज की नारी!

लंदनमेंरहनेवालींशन्नोअग्रवालनारियोंकीवर्तमानहालतकोध्यानमेंरखतेहुएकुछमासूमसवालकररहीहैं

गौर करिये कि सीता को दो बार अग्नि-परीक्षा देनी पड़ी थी वह भी रामराज्य में पर आज की…

View original post 1,413 more words

My Text, Nation, Uncategorized

प्रियं भारतम्

This Sanskrit song by Dr. Chandrabhanu Tripathi sung by Gabriella Brunnel . Click on her name to view the video. It has gone viral on social media and when we watch it we know why!
Below are the lyrics : 

प्रियं भारतम्

प्रकृत्या सुरम्यं विशालं प्रकामम्
सरित्तारहारैः ललामम् निकामम्
हिमाद्रिः ललाटे पदे चैव सिन्धुः
प्रियं भारतं सर्वथा दर्शनीयम्

धनानां निधानं धरायां प्रधानम्
इदं भारतं देवलोकेन तुल्यम्
यशो यस्य शुभ्रं विदेशेषु गीतम्
प्रियं भारतं तत् सदा पूजनीयम्.

अनेके प्रदेशा अनेके च वेषाः
अनेकानि रूपाणि भाषा अनेकाः
परं यत्र सर्वे वयं भारतीयाः
प्रियं भारतं तत् सदा रक्षणीयम्

सुधीरा जना यत्र युद्धेषु वीराः
शरीरार्पणेनापि रक्षन्ति देशम्
स्वधर्मानुरक्ताः सुशीलाश्च नार्यः
प्रियं भारतं तत् सदा श्लाघनीयम्

वयं भारतीयाः स्वभूमिं नमामः
परं धर्ममेकं सदा मानयामः
यदर्थं धनं जीवनं चार्पयामः
प्रियं भारतं तत् सदा वन्दनीयम्

 

This is link to a blog that has the meaning of this beautiful song.

https://shyamapatil.blogspot.com/2019/02/prakrtya-suramyam-visalam-prakamam.html

 

 

My Text, Uncategorized

देवी कवचम् 

देवी कवचम् पाठ

यह इस पाठ में संस्कृत के बड़े शब्दों  को लघु शब्दों में  विभक्त करके उच्चारण के लिये सहज बनाने  प्रयास है |
ऐसी मान्यता है कि देवी कवच के पाठ से  बड़े से  प्रकोपों से बचाव  जाता है | कहते हैं कि इसका असर नवरात्र के समय और भी प्रभावशाली हो जाता है |
हमने तय किया की यह पाठ हम भी करें और मन में स्वयं की रक्षा के अलावा तह भाव भी है :
ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः
सर्वे सन्तु निरामयाः ।
सर्वे भद्राणि पश्यन्तु
मा कश्चिद्दुःखभाग्भवेत् ।
ॐ शान्तिः शान्तिः शान्तिः ॥  
पाठमें काफी शब्द बड़े बड़े हैं और संस्कृत पढ़ने का काम अभ्यास होने से पाठ में अटक रहे थे | उसे ही सहज बनाने हेतु यह प्रयास किया है | यह प्रयास online संसाधनों के बल पर किया गया है |  मेरा अपना न्यूनतम योगदान है | वैसे भी मेरा शब्द ज्ञान कमजोर ही है | त्रुटियाँ होना स्वाभाविक है | अनुरोध है की इसमें हुवी गलतियों को इंगित करें ताकि उन्हें सुधारा जा सके | संपर्क करें : rkkarnani@gmail.com
Devi Kavacham1

Devi Kavacham2