Life, My Poems, Women

जागो मातृ शक्ति,जागो!

jago matri shakti

 

जागो मातृ शक्ति,जागो!

समय बीतता जाता फिर कब
अपनी मिथ्या निद्रा से जागोगी
रूढ़ी की  जंजीरें तोड़कर कब
हीन भावना से ऊपर उठ कब
वरीयता समाज से मांगोगी !

क्यों इंतज़ार कर रही,
कि कब राणा विष भेजना बंद करे
कब अग्नि परीक्षा पर प्रतिबन्ध लगे
सती प्रथा तो बंद हो  गयी
पर घर घर तू तो अब भी जले  

अग्नि परीक्षा और विष के प्याले
चिता सी अगन जो तू नित झेले
ये बंद होंगे केवल तभी
जब तुम ही इनको बंद करोगी
बहुत देर हो रही है अब तो
कब अपना जीवन स्वछन्द करोगी

नाजुक है बस,कमजोर नहीं तू  
सच यह चाहूँ तेरे दिल में पले
कुछ भी हासिल कर सकती तू
अपनी इस अहम क्षमता पर
संशय क्यों तेरे मन में चले  
अनुकरणीय आदर्श हैं बहुतेरी  
लक्ष्मी बाई ,बाई अहिल्या
फोगट बहनें, सायना,मेरी
कब इनका अनुसरण करेगी
समय बीतता जाता फिर कब जागेगी
रूढ़ीकी जंजीरें तोड़ कब द्रुत से भागेगी !!?
-रविन्द्र कुमार करनानी
अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस के शुभ अवसर पर
08 March 2020

7 thoughts on “जागो मातृ शक्ति,जागो!”

  1. bahut sundar kavita

    aaj maine socha tha kavita likhunga pr ho nahi paya

    yeh likh raha

    आजादी womens ke sandarbh me 🙂

    खुश रहने की है आजादी

    सब कहने की है आजादी

    सब सोचने की है आजादी

    जाहिर करने की आजादी

    ये है हमारी आजादी

    खुद में है तुम्हारी आजादी

    Liked by 2 people

  2. कभी पापा से प्रेम कभी भाई से,
    कभी पति का प्रेम,
    कभी माँ बन बेटों से प्रेम,
    इस प्रेम ने त्याग सिखाया और त्याग ने कब बेड़ियाँ पहना दी पता ही नहीं चला|
    नारी आजाद थी कल| हक था उन्हें अपना वर चुनने को अपना कर्म क्षेत्र बदलने को| सावित्री सत्यवान संग जंगल जाया करती थी, कैकेयी राजा दशरथ के संग युद्ध भूमि में जाया करती थी| दुर्गा, काली,माँ अनसुईया सरीखे अनगिनत नारियां उदाहरण स्वरुप हैं मगर कुछ पुरुषों ने इन्हें श्रृंगार,सोभा और प्रतिष्ठा का सामान बना दिया और नारियां खुद बनती चली गयी| आपने बिलकुल सही कहा अपना हक़ इन्हें खुद लेना होगा| अनगिनत पुरुष इनके साथ आवाज उठाने को आज भी तैयार खड़े हैं |……खूबसूरत पोस्ट|

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s